अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मिशन शक्ति के तहत विभिन्न स्थानों पर किया गया आयोजित


कछौना,हरदोई।अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर मिशन शक्ति के तहत कछौना क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए गये। प्रभारी निरीक्षक हंसमती के नेतृत्व में पहली बार महिला सुरक्षा समितियों की बैठक आयोजित की गई। प्रभारी निरीक्षक ने बताया भारत की आबादी में महिलाओं का बड़ा हिस्सा है। जब तक महिलाओं की स्थिति नहीं सुधरेगी, तब तक इस दुनिया के कल्याण की कोई संभावना नहीं है। महिलाएं तमाम क्षेत्रों में घर की चारदीवारी से निकलकर सराहनीय कार्य कर रही हैं। महिलाएं जब तक आर्थिक रूप से मजबूत नहीं होंगी, तब तक उन्हें बराबरी का हिस्सा नहीं मिल सकता है। दूरदराज से आई महिलाओं ने अपने अनुभव साझा किए। जानकी प्रसाद इण्टर कॉलेज की शिक्षिका ने अनुभव साझा करते हुए कहा हमारी छात्राएं कहती हैं कि हम लोगों से घर के घरेलू कार्य ज्यादा लिए जाते हैं। जिससे हमारी शिक्षा प्रभावित होती है। लड़के हाथ नहीं बताते हैं। हमें अपने परिवार में लड़का लड़की को बराबर का दर्जा देना चाहिये, तभी महिलाएं शिक्षित बनेगी। एक महिला को शिक्षित बनाने पर हम सब एक परिवार को शिक्षित बनाते हैं। ठाकुरगंज निवासी अनीता ने बताया हम लोग अनुसूचित जनजाति से आते हैं। परिवारों की माली हालत काफी खराब होती है, समाज में भेदभाव के चलते हम लोग कोई अच्छा रोजगार नहीं कर पाते हैं। जिसके कारण अधिकांश परिवार जीविकोपार्जन के लिए गलत कार्य कच्ची शराब आदि धंधे में लगे रहते हैं। जिसकी कीमत परिवार व समाज के लोग हमेशा उठाते हैं। कई लोगों की आकस्मिक मृत्यु भी हो चुकी है। सरकार को हमें परिवारों को रोजगार से जोड़ना चाहिए। जिससे हम लोग मुख्यधारा में आकर सम्मान का जीवन जी सकें। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता रेशमा ने बताया देश के विकास की तस्वीर उस देश की महिलाएं की स्थिति पर निर्भर करती है। महिला स्वास्थ व शिक्षित होंगी तभी देश हमारा मजबूत बनेगा। महिला आरक्षी दीपा यादव ने संबोधित करते हुए कहा कि महिलाओं को अपनी फरियाद करते हुए अब दर-दर भटकना नहीं पड़ रहा है। थानों पर मौजूद महिला हेल्प डेस्क पर आकर अपनी बात खुलकर सकती हैं। वही महिला हेल्पलाइन नंबर 1090, 181, 112, 1076 आदि पर अपनी शिकायत दर्ज कर सकती हैं। उप निरीक्षक विनोद कुमार पासवान महिला सुरक्षा समितियों को संबोधित करते हुए कहा आप अपनी बात बेझिझक कहें। पुलिस प्रशासन सदैव आपकी सेवा में तत्पर है। कस्तूरबा परिवार विद्यालय की वार्डन कृति द्विवेदी ने संबोधित करते हुए कहा शिक्षा किसी भी व्यक्ति, परिवार, समाज के शक्ति करण का मुख्य कारक है। यदि व्यक्ति शिक्षित हो तभी वह सही निर्णय ले पायेगा। इस कार्यक्रम से महिलाएं काफी आत्मविश्वास से भर गयी।

About graminujala_e5wy8i

Check Also

बिलग्राम, उर्स ए जहूरी का तीसरे दिन हुआ समापन

महफ़िल ए सिमा में आये कव्वालों ने समा बांधा जिक्र ए औलिया में मौलाना शम्श …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *