प्रिंसिपल की कुर्सी पर खंड शिक्षाधिकारी को बैठना पड़ा भारी,

दोनों में हुई जमकर तू तड़ाक,मामला थाने तक पहुंचा
बीएसए बोले दूसरे विभाग के अफसर से कराई जाएगी जांच
हरदोई।जिले में विद्या का मंदिर जंग का अखाड़ा बन गया,जहां प्रिंसिपल और शिक्षा विभाग के एक अफसर के बीच जमकर वाद विवाद हुआ।दरअसल शासन के निर्देश पर महिला खंड शिक्षाधिकारी दूसरे ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय में जांच के लिए गई थी।इस दौरान वह बिना बताए ही प्रिंसिपल की कुर्सी पर बैठ गयी जिसके बाद मौके पर पहुंची प्रिंसिपल ने खंड शिक्षाधिकारी को कुर्सी से उठने के लिए कहा।इस बात को लेकर दोनों के बीच जमकर वाद विवाद हुआ,विवाद इतना बढ़ गया कि मामला थाने तक पहुंचा और दोनों पक्षों ने एक दूसरे के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के लिए तहरीर दी।इस मामले में बीएसए का कहना है कि पूरे मामले की जांच जिलाधिकारी के निर्देश पर दूसरे विभाग के अफसर से कराई जाएगी,जांच रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी।फिलहाल शिक्षा के मंदिर में प्रिंसिपल और शिक्षा विभाग के अफसर के बीच विवाद का यह मामला लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है।मामला हरदोई जिले के विकासखंड भरावन के प्राथमिक विद्यालय ढिकुन्नी का है।दरअसल खंड शिक्षाधिकारी संडीला सिमी निगार महानिदेशक बेसिक शिक्षा विजय किरण आनंद के आदेश के क्रम में क्रास चेकिंग के लिए विकासखंड भरावन के प्राथमिक विद्यालय ढिकुन्नी जांच के लिए गई थी।जहां खंड शिक्षा अधिकारी सिमी निगार और प्राथमिक विद्यालय की महिला प्रिंसिपल आशीष अवस्थी के बीच जमकर विवाद हुआ। इस दौरान बनाए गए वाद-विवाद के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए हैं जिनमें दोनों के बीच हुए विवाद की तस्वीरें सामने आई हैं। तस्वीरों में विद्यालय की प्रिंसिपल और खंड शिक्षाधिकारी के बीच वाक युद्ध होता दिखाई दे रहा है और कोई भी किसी से हार मानने को तैयार नहीं है। प्रिंसिपल और शिक्षा विभाग के अफसर के बीच विवाद इतना बढ़ा कि मामला थाने तक पहुंच गया और दोनों पक्षों ने एक दूसरे के खिलाफ लिखित शिकायत तक पुलिस से कर दी।प्राथमिक विद्यालय की प्रिंसिपल आशीष अवस्थी का आरोप है कि वह अपने क्लास रूम में थी तभी खंड शिक्षाधिकारी संडीला सिमी निगार प्रिंसिपल रूम में आकर कुर्सी पर बैठ गयी,विद्यालय का दरवाजा आधा बंद था ताकि जानवर ना आ सके।ऐसे में अपनी आवभगत न देखकर और दरवाजा खोलने में देरी होने पर उनके पहुंचते ही खंड शिक्षा अधिकारी आक्रोशित हो गई और उन्होंने अभद्र भाषा का प्रयोग किया।जब प्रिंसिपल आशीष अवस्थी ने इसका वीडियो बनाया तो खंड शिक्षाधिकारी ने उनका मोबाइल फोन तोड़ दिया।वहीं इस मामले में खंड शिक्षाधिकारी सिमी निगार का कहना है कि विद्यालय में वह जांच के लिए गई थी।इस दौरान प्रिंसिपल रूम में कुर्सी खाली थी,इसलिए वह कुर्सी पर बैठ गई अपने रूम में कुर्सी पर बैठा देखकर प्रिंसिपल गुस्से में आ गई और कुर्सी से उठने के लिए कहा,प्रतिउत्तर में उन्होंने अव्यवस्था के बारे में पूछा तो वह गांव से कई लोगों को बुला लाई और उनके साथ झगड़ने लगी साथ ही धमकी दी कि शासन में उनके  परिचित बड़े पद पर हैं वह उन्हें बर्बाद कर देगी।इस संबंध में दोनों ने एक दूसरे के खिलाफ थाना अतरौली में प्राथमिकी दर्ज कराए जाने के लिए तहरीर दी है हालांकि खबर लिखे जाने तक अभी मुकदमा दर्ज नहीं किया जा सका है।
वही इस बारे में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी बी पी सिंह ने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी सिमी निगार विकासखंड भरावन में विद्यालय की चेकिंग के लिए गई थी,जहां विद्यालय के प्रिंसिपल और खंड शिक्षा अधिकारी के बीच विवाद हुआ है,इस मामले में पत्रावली जिलाधिकारी के समक्ष पेश की जाएगी और अनुमति लेकर किसी दूसरे विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी से पूरे प्रकरण की जांच कराई जाएगी और जांच रिपोर्ट आने पर कार्रवाई की जाएगी।

About graminujala_e5wy8i

Check Also

भाकियू के मंडल उपाध्यक्ष ने जिलाधिकारी को मांग पत्र सौंपा।

बिलग्राम हरदोई ।। संपूर्ण समाधान दिवस में आए भाकियू के मंडल अध्यक्ष राज बहादुर सिंह …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *