गड्ढा मुक्त अभियान में हवा हवाई आंकड़े, योगी के सपने को जिला प्रशासन लगा रहा पलीता

जिला प्रशासन द्वारा 80% सड़कें गड्ढा मुक्त होने का दावा
कस्बे की अधिकांश सड़कें गड्ढा युक्त/जर्जर, नगर में गड्ढा मुक्त अभियान पूरी तरह से फेल
कछौना,हरदोई।नगर पंचायत कछौना पतसेनी की प्रमुख सड़कें गड्ढायुक्त जर्जर, नालियां टूटी होने के कारण दंश झेल रहे हैं। प्रमुख सड़कों के खराब होने के कारण नागरिक कष्ट झेल रहे हैं। नगर की प्रमुख सड़कों का जीर्णोद्धार व गड्ढा मुक्त कराने के लिए शासन प्रशासन से सामाजिक कार्यकर्ता बैजनाथ में मांग की।बताते चलें कि कस्बे में कोविड-19 के कारण एवं अध्यक्ष, सभासद टीम व पूर्व अधिशासी अधिकारी रेणुका यादव के बीच सामंजस्य न होने के कारण विकास कार्य काफी प्रभावित हो हुए। कई वर्षों तक बोर्ड की बैठक नहीं हो पाई थी। कस्बे के बाबा कुशीनाथ मंदिर से बस्ती होते हुए बाबूलाल पुलिया तक मार्ग काफी जर्जर है। बरसात के समय आवागमन दुष्कर हो जाता है। नगरवासी इस जर्जर सड़क का दंश झेलने को विवश हैं। इस मार्ग में डामर पूरी तरह से उखड़ चुका है। नालियां भी टूट चुकी हैं। गोल बिल्डिंग के पीछे से रामेश्वर मंदिर तक गली की इंटरलॉकिंग टूट चुकी है। नालिया भी टूट चुकी हैं। भवन स्वामियों के निर्माण के कारण सड़क काफी संकरी हो गई है। चौपहिया वाहन निकलना मुश्किल है। तीसरी सड़क रामेश्वर मंदिर से ज्ञानपुर तिराहे तक निर्माण कार्य काफी पुराना हो चुका है। नालिया दोनों तरफ टूट चुकी हैं। एक तरफ भवन स्वामियों ने नाला पर पूरी तरह से अतिक्रमण कर लिया है। जिससे बरसात में जल निकासी न होने के कारण जलभराव हो जाता है। नगर वासियों का निकलना दुष्कर हो जाता है। चौथी सड़क बाबूलाल पुलिया से सिंह नर्सिंग होम तक मार्ग पूरी तरह से उखड़ चुका है। नालियां टूट चुकी हैं, हमेशा जलभराव बना रहता है। दलित बस्ती होने के कारण आम जनमानस की तरफ से कोई आवाज उठाने वाला नहीं है। सड़क की दुर्दशा का दंश आम नागरिक झेलने को विवश हैं। पांचवी सड़क गोल बिल्डिंग से सुठेना बाईपास मार्ग के अंत्येष्टि स्थल तक मार्ग काफी जर्जर है। नाला पूरी तरह से टूट चुका है। जगह-जगह गड्ढे होने के कारण आवागमन दुष्कर है। यह मार्ग लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत आता है। छठी सड़क गौसगंज मार्ग पर लगभग 600 मीटर भाग छूटा होने के कारण आवागमन दुष्कर है। यह मार्ग भी लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत आता है। इस मार्ग पर ग्रामीण क्षेत्र के सैकड़ों गांवों के ग्रामीणों का आवागमन रहता है। दोनों तरफ जल निकासी का नाला भी टूट चुका है। लोगों ने अतिक्रमण कर नाला को पाट दिया है। सातवीं सड़क मोहल्ला ठाकुरगंज के देवी नीम मंदिर से राम लीला मैदान होते हुए नटपुरवा होते हुए मुख्य स्टेशन मार्ग की हालत काफी खराब है। जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं। आवागमन दुष्कर है। कई वर्षों से निर्माण कार्य न होने से सड़क का वजूद ही खत्म हो चुका है। बरसात के समय लोगों का निकलना दुश्वर हो जाता है। आठवीं सड़क स्टेशन फाटक से गाजू तिराहे तक मार्ग काफी जर्जर है। जगह-जगह गहरे-गहरे विशालकाय गड्ढे होने के कारण आए दिन लोग चुटहिल हो रहे हैं। स्टेशन फाटक से रेलवेगंज स्थित दुर्गा मंदिर तक सड़क की हालत काफी खराब है। रेलवेगंज में मंदिर के पास काफी जर्जर है। कस्बे की अधिकांश सड़कों की हालत काफी खराब है। इन मार्गों पर प्रतिदिन नौनिहाल, युवा, महिलाएं, वृद्धजनों का आवागमन रहता है। कस्बे में दर्जनों विद्यालय, इंटर कॉलेज, डिग्री कॉलेज, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्रमुख बाजार स्थित है। सड़कों की हालत खराब होने के कारण दुर्घटनाओं के साथ बाजार पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। सामाजिक कार्यकर्ता बैजनाथ ने प्रमुख सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की मांग शासन-प्रशासन से की है।

About graminujala_e5wy8i

Check Also

22 वर्षीय युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

कछौना, हरदोई। कोतवाली क्षेत्र कछौना के अंतर्गत ग्राम जैतनगर में वुधवार को अपराह्न एक युवक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *