2016 लाख की परियोजना से संवरेगी बाढ़ग्रस्त गांवों की सूरत 

सवायजपुर में 4 बाढ़ सुरक्षा परियोजना शासन से मंजूर
हरदोई।सवायजपुर विधानसभा जो पांच बड़ी और कई छोटी नदियों से घिरा हुआ क्षेत्र है। जहां प्रतिवर्ष बाढ़ से सैकड़ों गांवों में जन धन की हानि होती है। वहां अब सवायजपुर के विधायक  माधवेंद्र प्रताप सिंह रानू के प्रयासों से तकरीबन 5 दर्जन गांवों की सुरक्षा के व्यापक इंतजाम हो सकेंगे।
विधायक श्री रानू के प्रस्तावों को शासन की हरी झंडी मिल गई है। जिसमें तकरीबन 2016 लाख की लागत की 4 बाढ़ सुरक्षा परियोजना स्वीकृत हो गई है।
सवायजपुर विधानसभा के भरखनी, हरपालपुर और सांडी ब्लॉक के तकरीबन 1 सैकड़ा गांवों में हर वर्ष आने वाली बाढ़ से हजारों बीघे खेती बर्बाद हो जाती है। इन गांवों की सूरत सुधारने के लिए विधायक श्री रानू ने शासन को प्रस्ताव भेजे थे। जिन पर उत्तर प्रदेश राज्य बाढ़ नियंत्रण परिषद की स्थायी समिति ने अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है। जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह की अध्यक्षता में आहूत परिषद की बैठक में सवायजपुर विधानसभा के अंतर्गत रामगंगा नदी के किनारे पर बाढ़ से प्रभावित होने वाले संवेदनशील गांव रवियापुर, दुर्जना और बारी के आसपास बाढ़ सुरक्षा हेतु 454.60 लाख की परियोजना तो गंगा नदी के आसपास तेरवाकुल्ली, देवीपुरवा आदि गांवों में 661.96 लाख की परियोजना, गर्रा नदी के किनारे स्थित पाली नगर पंचायत, अतर्जी की 554.77 लाख की परियोजना और गर्रा नदी पर ही कहारकोला,बाबरपुर, मिरकापुर आदि गांवों में 345.00 लाख की बाढ़ सुरक्षा परियोजना को स्वीकृति मिली है।
सवायजपुर विधानसभा के क्षेत्र में प्रतिवर्ष बाढ़ आने पर कई गांवों की खेती पानी में समा जाती रही है, और हर वर्ष जन धन की व्यापक हानि होती रही है। बाढ़ से मार्ग कट जाते है और कई गावों का संपर्क मुख्यालय से टूट जाता था। इन परियोजनाओं की स्वीकृति के बाद क्षेत्र में विकास के कार्यों को गति मिलेगी। साथ ही हर वर्ष आने वाली बाढ़ से होने वाली घटनाओं पर भी रोक लगेगी।

About graminujala_e5wy8i

Check Also

भाकियू के मंडल उपाध्यक्ष ने जिलाधिकारी को मांग पत्र सौंपा।

बिलग्राम हरदोई ।। संपूर्ण समाधान दिवस में आए भाकियू के मंडल अध्यक्ष राज बहादुर सिंह …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *