चौरी-चौरा से शुरू हुई ‘स्वास्थ्य रक्षा जागरुकता बेरुआ स्टेट पहुंची


हरदोई।चौरी-चौरा से शुरू हुई ‘स्वास्थ्य रक्षा जागरुकता यात्रा’ रविवार को बेरुआ स्टेट और कछौना पहुंची।बेरुआ में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी रानी विद्यावती, लक्ष्मी देवी, सीताराम, बदलू पहलवान व अजरैल सिंह को और कछौना में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी क्रांतिवीर सरदार गजराज सिंह उर्फ कुशल सिंह, राम कौर उर्फ राम कुमारी, मूलचंद व राधेलाल पाठक को हवनोपरान्त श्रद्धांजलि दी गयी।नेचरोपैथ डॉ राजेश मिश्र ने बताया कि ऑक्सीजन शरीर की पहली आवश्यकता है इसलिए नित्य हवन करके अपने यहां का वायुमंडल शुद्ध करें। कहा, हवन से वायुमंडल शुद्ध होता है और सतोगुण की वृद्धि होती है। कहा, सबसे पहले अपने परिवार व पड़ोसियों के लिए शुद्ध वायुमण्डल तैयार करें। कहा नशे व मांसाहार से दूर रहें। उन्होंने जैविक खेती पर जोर दिया। जैविक तरीके से उत्पादित अन्न को औषधि बताया।डॉक्टर मिश्र ने भोजन पकाने की वैज्ञानिक विधि बतायी। कहा कुकर में भी अदहन रखकर पकायें। आटे की भूसी में कई आवश्यक तत्व होते हैं। इसलिए आटे की भूसी को निकाल कर न फेंकें। कहा सम्पूर्ण आटे की रोटी खायें। तला-भुना आहार मनुष्य को रोगी बना रहा है। बताया मसालों व सब्जियों को तेल में तलने से उनके तत्व नष्ट हो जाते हैं। रिफाइंड चीजों से बचें।अध्यक्षता करते हुए श्याम सुन्दर त्रिपाठी ने कहा कि डॉक्टर राजेश मिश्र की कथनी और करनी एक है। उनके अनुसार आहार-विहार करने से ही स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के वारे में कई प्रसंग सुनाये। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी परिवार के उपेन्द्र सिंह ने स्वागत किया। राहुल कुमार, संतराम, रामस्वरूप, जन्मेजय त्रिपाठी, धीरेन्द्र सिंह,  रमाशंकर मिश्र व अन्य लोग उपस्थित रहे।

About graminujala_e5wy8i

Check Also

बिलग्राम, उर्स ए जहूरी का तीसरे दिन हुआ समापन

महफ़िल ए सिमा में आये कव्वालों ने समा बांधा जिक्र ए औलिया में मौलाना शम्श …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *