भीषण बाढ़ के चलते डेढ़ सौ गांवों की बिजली आपूर्ति, की गई बंद

प्रशासन ने बंद कराया बाढ़ पीड़ितों का खाना,सीएमओ ने स्वास्थ्य व्यवस्था देखी
38 प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय कराए गए बंद
हरपालपुर/हरदोई।कटियारी क्षेत्र की गंगा नदी का जलस्तर तेजी से घटने लगा है। वही रामगंगा नदी का जलस्तर गुरूवार को कुछ कम हुआ है।परंतु बाढ़ पीड़ितों की दुश्वारियां बढ़ गई हैं।वही बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए लखनऊ से आये पीएसी के जवान मोर्चा संभाले हुए हैं। वहीं सीएमओ ने स्वास्थ्य कैंप का निरीक्षण करने के साथ बाढ़ ग्रस्त इलाकों का दौरा किया है।गंगा रामगंगा व गंभीरी नदियों के बीच करीब 20 किलोमीटर क्षेत्र में बसे करीब 100 से अधिक गांव के ग्रामीण बाढ़ से जुझ रहे है। बाढ़ प्रभावित कई गांव के संपर्क मार्ग पूरी तरह कट जाने से आवागमन पूरी तरह ठप हो गया है।कई टापू बन गये हैं। लोगों को खाने पीने का संकट उत्पन्न हो गया है। कई स्थानों पर लोग घर छोड़कर खुले आसमान के नीचे सड़कों पर डेरा डाले हुए है। लखनऊ से आयी 32 बाढ़ राहत दल 32 वीं बटालियन कंपनी एसीपी जमील अहमद के नेतृत्व में राहत व बचाव का कार्य कर रही है। मुरबा शहाबुद्दीन पुर दाढ़ चौकी पर बाढ़ पीड़ितों के लिए बन रहा खाना गुरुवार को जिला प्रशासन ने बंद करा दिया है।नायब तहसीलदार सवायजपुर सुशील कुमार ने बताया कि जिलाधिकारी ने सभी प्रभावित गांवों में खाना न पहुंच पाने के कारण अब अव्यवस्था होने के चलते ग्राम प्रधान व कोटेदारों को स्थानीय स्तर पर बाढ़ पीड़ितों के खाने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं।गुरुवार को सीएमओ डॉ सूर्यमणि त्रिपाठी ने बेड़ीजोर में स्वास्थ विभाग के कैंप का निरीक्षण किया। यहां मौजूद हरपालपुर सीएचसी के अधीक्षक डॉ राणा प्रताप सिंह, स्वास्थ्य टीम की डॉक्टर सोनिया अली,डॉ रत्नेश यादव, फार्मासिस्ट सुनील वर्मा व राधेश्याम से बाढ़ पीड़ितों के स्वास्थ्य के बारे में किए जा रहे प्रयासों की जानकारी ली।इसके बाद उन्होंने कई बार ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा कर हालात का जायजा लिया। सीएमओ ने बताया कि बाढ़ कम होने के साथ ही बीमारियां फैलने के मद्देनजर स्वास्थ्य टीम को सक्रिय रखकर बाढ़ पीड़ितों का इलाज के निर्देश दिए गए।इसके अलावा गर्भवती महिलाओं की सूची बनाकर उनका स्वास्थ्य परीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। हैंडपंपों में ब्लीचिंग व क्लोरीन डलवाने के बीसीएमओ ने निर्देश दिए हैं। वही बाढ़ पीड़ितों को मिलने वाला भोजन भी प्रशासन ने बंद करा दिया है जनप्रतिनिधि भी बाढ़ सिर्फ भरोसा ही दिलाने का काम कर रहे हैं देखा जाए तो 2022 का विधानसभा चुनाव सर पर है सपा बसपा कांग्रेस भाजपा सभी दल के नेता वोट मांगने के लिए कटियारी में चहल कदमी करने लगे हैं लेकिन बाढ़ पीड़ितों का सहारा नहीं बन क्षेत्रीय भाजपा विधायक माधवेंद्र प्रताप सिंह रानू लगातार जनता के बीच जाकर उन्हें शासन से मिलने वाला सहयोग दिलाने का भरोसा कर रहे हैं।

About graminujala_e5wy8i

Check Also

बिलग्राम, कल सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक विद्युत आपूर्ति बाधित रहेगी।

बिलग्राम हरदोई ।नगर क्षेत्र में शुक्रवार को सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *