जान की परवाह न करते हुए भाजपा नेता देश निर्माण में लगें-आलोक सिंह

हरदोई। भाजपा जिला कार्यालय पर सहकारिता प्रकोष्ठ की बैठक में मुख्य अतिथि सह संयोजक सहकारिता उत्तर प्रदेश आलोक सिंह ने कहा कि सहकारिता बिना किसी लोभ के जनकल्याण के लिए शुरू किया गया था पर बीच समय काल में ऐसी दीमक लगी जिसने सहकारिता की मूल भावना को आहत किया पर जब से भाजपा सरकार सत्ता में आई है, सभी सहकारी संस्थाएं धीरे धीरे पटरी पर आ रही हैं।
हरदोई का केंद्रीय उपभोक्ता भंडार सहकारिता में जनपद का स्वर्णिम मॉडल है।सहकारिता से जुड़ने वाले लोगो को सेवा के साथ कर्तव्य का भी पालन करना चाहें, तभी सहकारिता का लाभ सभी को मिल पाएगा।
वर्ष 2023 सहकारिता के भविष्य को बदलने जा रहा है।
सह संयोजक सहकारिता अवध क्षेत्र राजीव कुमार त्रिवेदी ने कहा कि सहकारिता का इतिहास ११७ साल पुराना है,उस इतिहास से आज के वर्तमान में सहकारिता ने एक लंबा सफर तय किया है। भाजपा ने सहकारिता में जान फूंकने के लिए कृषि मंत्रालय से अलग कर सहकारिता मंत्रालय का विभाग अमित शाह को देकर एक अमूल चूल परिवर्तन किया। सहकारिता में बंद पड़ी संस्थाओं और सोसाइटी को दोबारा शुरू करवाने का काम किया। पूर्व की सरकारों ने देश को लूटने का काम किया जिसमें सहकारिता भी अछूता नहीं रहा और यह रूप देखने को मिला कि देश भर की सहकारी बैंकों व अन्य संस्थाओं को बंदी के दौर से गुजरना पड़ा।
क्षेत्रीय संयोजक सहकारिता प्रकोष्ठ अवध क्षेत्र से मनीष सहनी ने कहा ,सहकारिता के क्षेत्र में एलडीबी बैंक को उबारने के लिए भाजपा सरकार ने पैकेज का ऐलान किया। सोसायटी से किसानों को पारदर्शी तरीके से खाद आदि उपलब्ध हो सके, इसके लिए भाजपा सरकार विशेष कार्ययोजना बना रही है साथ ही सोसायटी की खरीद पर्ची पर उसे बिना को अन्य शुल्क दिए बीमा का भी लाभ मिलेगा। आगामी चुनाव को देखे तो जनता  की आकांक्षा पर वर्तमान सरकार 100 प्रतिशत खरी उतरी। प्रदेश से लेकर देश तक में बह रही विकास की बयार को हर आदमी महसूस कर रहा है। मेट्रो, नए हाईवे, मेडिकल कॉलेज, माफिया मुक्त वातावरण, भ्रष्टाचार मुक्त सरकार, ऊर्जा क्षेत्र में गांव गांव तक बिजली पहुंचना, 24 घंटे बिजली उपलब्ध हैं, रोजगार क्षेत्र में लाखों युवाओ को रोजगार देना, कोरोना वक्सिनेशन से आधी से ज्यादा आबादी कवर किया। हमें याद रखना है कि 2022 की सरकार ही 2024  की सरकार का मार्ग प्रशस्त करेगी।
जिला संयोजक सहकारिता रामनाथ त्रिपाठी ने कहा कि भाजपा सरकार ने सहकारिता में जान फूक दी अन्यथा पूर्व की सरकारो ने सहकारिता को लोगो का उत्थान करने की जगह लूट की दुधारू गाय बना दिया था। जिले में सहकारिता की अचल संपत्तियों पर अवैध कब्ज़ा है या फिर वीरान पड़ी है। भाजपा सरकार ने सहकारिता मंत्रालय बनाकर गांव गांव के विकास का प्रण लिया। सहकारिता की गांव गांव में बनी सोसायटी से जुड़ा हर व्यक्ति भाजपा संगठन और सरकार के लिए एक अमूल्य धरोहर है।
गोष्ठी में जिला सह संयोजक सहकारिता अमित गुप्ता,राजेंद्र सिंह राजन,कॉपरेटिव बैंक अध्यक्ष विद्या राम वर्मा, अमित दीक्षित, कुलभूषण सिंह, संग्राम सिंह मौजूद रहे।

About graminujala_e5wy8i

Check Also

राजकीय वृक्षों के अवैध कटान में वांछित अभियुक्त को वन रेंज की टीम ने गिरफ्तार कर भेजा जेल

कछौना, हरदोई। वन रेंज कछौना के अंतर्गत चार माह पूर्व समदा खजोहना में 15 राजकीय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *