आरपीएफ कांस्टेबल ने पेश की ईमानदारी की अनोखी मिशाल महिला यात्री को लौटाया ट्रेन में छूटा पर्स

कछौना/हरदोई।आज के बदलते दौर में जहाँ ज्यादातर लोगों को चंद रुपयों के लिए अपना दीन-ईमान खोते देखा जा रहा है और आमजनमानस में पुलिस के बारे में नकारात्मक सोच पनप चुकी है वहीं कुछ लोग ईमानदारी की लौ आज भी जलाए रखें हैं।ईमानदारी की एक ऐसी ही अनोखी मिशाल पेश की है मुरादाबाद मंडल(रेलवे) के अंतर्गत बालामऊ जक्शन पर आरपीएफ में तैनात कांस्टेबल भूपेन्द्र कादयान ने जिन्होंने महिला यात्री का ट्रेन में छूटा स्वर्ण आभूषणों भरा बैग सही सलामत उसे वापस किया।
दरअसल शुक्रवार को कछौना(बालामऊ) निवासी रूबीना बांगरमऊ से ट्रेन नंबर 04342(बालामऊ एक्सप्रेस) से बालामऊ आ रही थीं।शाम करीब सात बजे बालामऊ में ट्रेन से उतरने समय धोखे से उनका पर्स ट्रेन में ही छूट गया।रूटीन चेकअप के दौरान उक्त ट्रेन के कोच नंबर एन.आर.143557 में कांस्टेबल भूपेन्द्र कादयान को वो पर्स सीट के पास पड़ा हुआ मिला।आरपीएफ स्टाफ के सामने उस पर्स को खोलने पर उसमें सोने की एक चैन, सोने की दो अंगूठियों सहित सैमसंग कंपनी का एक एंड्रॉयड फोन व दो सौ रुपये नकद मौजूद मिले।पर्स में मिले मोबाइल फोन से कुछ नंबरों पर बात होने के बाद संबंधित महिला यात्री रूबीना को पर्स मिलने की जानकारी दी गई।आरपीएफ सिपाही भूपेन्द्र की ओर से फोन पर सूचना मिलने के बाद महिला यात्री रूबीना ने अपने परिजनों के साथ बालामऊ स्टेशन आकर अपना सभी सामान सही सलामत रूप से प्राप्त किया।रूबीना ने बताया कि ट्रेन में पर्स छूटने का जैसे ही उसे आभास हुआ था वो अपनी सुधबुध खो बैठी थी।निम्नवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाली रूबीना के साथ इतनी बड़ी घटना होने के बाद उस पर तो जैसे दुखों का पहाड़ ही टूट पड़ा था।लेकिन जैसे ही उसको सूचना मिली कि उसका खोया हुआ सामान एकदम सुरक्षित है और अब वापस मिलने वाला है तो उसे ये एक चमत्कार जैसा ही लगा था।सभी सामान सुरक्षित मिलने पर खुशी से गदगद महिला यात्री रूबीना व उसके परिजनों ने आरपीएफ कांस्टेबल भूपेंद्र की भूरि भूरि सराहना करते हुए ह्दय से आभार व्यक्त किया।
बताते चलें कि हरियाणा राज्य के सोनीपत के निवासी व किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाले भूपेंद्र कादयान रेसलिंग स्पोर्ट्स में मेडलिस्ट हैं और वर्तमान में मुरादाबाद मंडल के बालामऊ जक्शन पर आरपीएफ थाने में आरक्षी पद पर तैनात हैं।विशेष बातचीत में उन्होंने बताया कि उन्हें बचपन से ही उनके माता पिता ने अपने फर्ज के प्रति सदैव ईमानदार रहने की नसीहत दी है।2019 में आरपीएफ में नियुक्ति के बाद अपनी ड्यूटी के दौरान सदैव रेलयात्रियों की सुरक्षा और उन्हें संतुष्टि प्रदान करना ही उनकी प्राथमिकता रही है।वहीं बालामऊ जक्शन के आरपीएफ प्रभारी महेंद्र सिंह ने बताया कि आरपीएफ कांस्टेबल भूपेंद्र कादयान द्वारा किया गया ये कार्य अत्यंत सराहनीय और प्रशंसनीय है।भूपेंद्र द्वारा इस उत्कृष्ट कार्य के संदर्भ में सीनियर कमांडेंट आरपीएफ-मुरादाबाद को जानकारी उपलब्ध करा दी गई है।

About graminujala_e5wy8i

Check Also

13 से 29 अप्रैल के मध्य किया जायेगा निःशुल्क खाद्यान्न वितरण

हरदोई: जिलापूर्ति अधिकारी कमल नयन सिहं ने बताया है कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजनान्तर्गत माह …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *