असत्य पर सत्य की विजय पर धूं-धूं कर जला रावण का पुतला

मल्लावां,हरदोई।श्री बजरंगबली रामलीला समिति चौहट्टा मोहिउद्दीनपुर के तत्वाधान में 38 वें वर्ष के रामलीला कार्यक्रम के नौवें दिन रामेश्वरम की स्थापना ,लक्ष्मण शक्ति की लीला का वृंदावन के कलाकारों ने मंचन किया।सोमवार को श्री बजरंगबली रामलीला समिति द्वारा दसवें दिन की लीला में बालि वध के बाद भगवान राम द्वारा लंका जाने के लिए रामेश्वरम की स्थापना समुद्र तट पर करते हैं । उसके पश्चात अंगद रावण संवाद का मंचन किया गया । रावण के योद्धा युद्ध में राम की सेना से पराजित होने के बाद रावण द्वारा युद्ध में अपने पुत्र मेघनाथ को भेजता है । मेघनाथ और लक्ष्मण के बीच घनघोर युद्ध होता है युद्ध में जब मेघनाथ की कला नहीं चलती है तो उसके द्वारा शक्ति बाण छोड़कर लक्ष्मण को मूर्छित कर देता है । उसके बाद राम सेना में मायूसी छा जाती है । उसके बाद हनुमान जी द्वारा सुसैन वैद्य को लंका से उठा लाते हैं । लक्ष्मण की मूर्छा खत्म करने के लिए हनुमान जी जड़ी बूटी लेने के लिए निकलते हैं जहां से लौटते समय भरत द्वारा हनुमान जी को दूसरे देश का गुप्त चर समझकर बाण छोड़ देते हैं । हनुमान जी बाण लगते ही जमीन पर गिरते हैं उसके बाद उनके मुख से राम नाम सुनते ही भरत द्वारा उन्हें राम का दूत समझ कर समीप पहुंचते हैं । तो हनुमान जी द्वारा लक्ष्मण जी के मूर्छित होने के विषय में बतलाते हैं । भरत द्वारा बाण पर बैठाकर हनुमान जी को राम जी के पास भेज देते हैं । सुसैन वैद्य द्वारा जड़ी बूटी के पिलाने के बाद लक्ष्मण जी को होश आ जाता है । राम सेना में फिर एक बार खुशियों मनाई जाने लगती हैं । इधर रावण की सेना में लक्ष्मण की मूर्छा खत्म होने के बाद मायूसी दिखाई देने लगती है । अंत में भगवान श्री राम के साथ घनघोर युद्ध में रावण को पराजय का सामना करना पड़ता है ।  इस दौरान कार्यक्रम में मुख्य रूप से समिति के महामंत्री अनुराग मिश्र, कोषाध्यक्ष अनिल मिश्र, प्रेमशील पांडेय, उपाध्यक्ष वीरेंद्र मिश्र ,सुधीर मिश्र, गौरव मिश्र, शशि शंकर दीक्षित, कमलेश यादव ,डॉ छोटे संतोष मिश्र, सोनू अवस्थी , सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

About graminujala_e5wy8i

Check Also

सिपाही व एक तथाकथित युवक पर पैसे लेकर मुकदमा न लिखाने का आरोप , पीड़ित ने डीएम से लगाई न्याय की गुहार

सिपाही व एक तथाकथित युवक पर पैसे लेकर मुकदमा न लिखाने का आरोप , पीड़ित …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *