नरेश अग्रवाल कहें कि भाजपा में अपमान हुआ स्वीकार कर लेंगे- अखिलेश यादव 

एमएलसी डॉ राजपाल कश्यप के पिता की तेरहवीं संस्कार में शामिल होने आए थे अखिलेश यादव कहा,स्व कल्याण सिंह की अंत्येष्टि में पार्टी के लोग गए थे मुद्दा नहीं बनाना चाहिए
भाजपा सरकार कंपनी की तरह काम कर रही है सब कुछ बेंच देंगे
हरदोई।सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जिले के मझरेता गांव निवासी एमएलसी डॉ राजपाल कश्यप के पिता की तेरहवीं संस्कार में शामिल होने आए थे।इसके बाद वे सपा जिलाध्यक्ष जीतेंद्र वर्मा के आवास भी गए।
मालूम हो कि सपा के एमएलसी डॉ राजपाल कश्यप के पिता की तेरहवीं संस्कार में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कई संगठन के पदाधिकारी शामिल होने आए थे। उन्होंने स्वर्गीय सियाराम कश्यप के चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए।
इसके बाद पत्रकारों के संक्षिप्त मुलाकात के दौरान पूछे गए प्रश्नों के उत्तर में उन्होंने कहा कि स्वर्गीय कल्याण सिंह की अंत्येष्टि में पार्टी के कई लोग गए थे, राजनीति में इसे मुद्दा नहीं बनाना चाहिए। मुख्तार अंसारी के भाई को पार्टी में लिए जाने और बेटे को लिए जाने को लेकर कहा कि समाजवादी पार्टी में जो जो आना चाहेंगे,उन्हें लेना  शुरू कर दिया जाएगा और सम्मान देने का काम आपके जिले से अच्छा कौन जानता है। सपा हमेशा सम्मान देने का काम करती है। उन्होंने कहा कि यदि नरेश अग्रवाल कहें कि भाजपा में अपमान हुआ है तो उन्हें भी सोच विचार कर स्वीकार कर लिया जाएगा।
उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ी साजिश करने वाली पार्टी है। आपसे कहा लैपटॉप देंगे,किसानों की आय दोगुनी कर देंगे, जवानों से कहा 70 लाख नौकरी देंगे। कोविड-19 की बीमारी आई, जिससे बड़ी संख्या में लोगों की जान चली गई।दवाई, ऑक्सीजन बिस्तर तक नहीं दे पाए। आज फिर जब वायरल बुखार फैल गया है बच्चों की जान जा रही है लोग वायरल बुखार से बीमार हैं और अस्पतालों में बेड नहीं हैं। सिलेंडर ,डीजल ,पेट्रोल महंगा हो गया।
श्री यादव ने कहा कि समाजवादी लोग संपन्नता की राजनीति करते हैं कि लोग संपन्न हों, खुशहाल हों,पर भारतीय जनता पार्टी सरकार खुद ही कंपनी बन गई है जो देश की संस्थानों को बेचकर कंपनियों का गुलाम बनाना चाहती है। भारतीय जनता पार्टी पॉलिटिकल ताकत भी कंपनियों के हाथ में देना चाहती है। स्वर्गीय कल्याण सिंह की तेरहवीं के कार्यक्रम में शामिल होने के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि मैं आज यहां शामिल होने आया हूं और यह कार्यक्रम भी पहले से तय था। कोई भी समाज में भारत की परंपराओं में जो अगर हमारे बीच नहीं रहते हैं तो लोग जाते हैं उनके घर पर और कहीं भी, इसको राजनीतिक मुद्दा नहीं बनाना चाहिए। समाजवादी लोगों ने कभी भेदभाव नहीं किया है। हमारी पार्टी के नेता उनकी अंत्येष्टि में गए थे और उनके दुख में भी हमारी पार्टी के कई नेता शामिल रहे हैं।

About graminujala_e5wy8i

Check Also

बिलग्राम, उर्स ए जहूरी का तीसरे दिन हुआ समापन

महफ़िल ए सिमा में आये कव्वालों ने समा बांधा जिक्र ए औलिया में मौलाना शम्श …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *