जिला पंचायत अध्यक्षा प्रेमावती ने किया मातृ वंदना सप्ताह का शुभारम्भ 

हरदोई।पहली बार गर्भवती होने वाली महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य देखभाल व उचित पोषण प्रदान करने के उद्देश्य से  प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (पीएमएमवीवाई) एक जनवरी 2017 से चलायी जा रही है।इसके तहत तीन किश्तों में पांच हजार रूपये प्रदान किये जाते हैं।योजना को गति प्रदान करने के उद्देश्य से बुधवार को मातृ वंदना सप्ताह का शुभारम्भ जिला महिला अस्पताल में जिला पंचायत अध्यक्षा प्रेमावती द्वारा किया गया।
इस अवसर पर श्रीमती प्रेमावती देवी ने ने कहा-  केंद्र सरकार द्वारा चलायी जा रही यह योजना गर्भवती और उसके गर्भ में पल रहे बच्चे दोनों के लिए लाभदायक है।योजना के तहत पहली बार गर्भवती होने पर पोषण के लिए पांच हजार रुपये तीन किश्तों में गर्भवती के खाते में दिए जाते हैं।पहली किश्त 1,000 रुपये की गर्भधारण के 150 दिनों के अंदर पंजीकरण कराने पर, दूसरी किश्त में 2,000 रुपये 180 दिनों  के अन्दर व 2,000 रूपये की तीसरी किश्त प्रसव पश्चात तथा शिशु के  प्रथम टीकाकरण चक्र के पूरा होने पर मिलते हैं।यदि गर्भवती स्वस्थ और सुपोषित है तो गर्भ में पल रहा बच्चा भी स्वस्थ होगा।इसके लिए जरूरी है कि गर्भ का पता चलते ही महिला का पंजीकरण कर महिला के  स्वास्थ्य की जाँच की जाये।इसी को ध्यान में रखते हुए पीएमएमवीवाई योजना शुरू की गयी है। इस तरह से महिला की पूरी गर्भावस्था के दौरान कम से कम दो जांचें और शिशु का पहला टीकाकरण चक्र सुनिश्चित हो जाता है।
इस मौके पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. सूर्यमणि त्रिपाठी ने कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं को उपहार देकर सम्मानित किया।
पीएमएमवीवाई के नोडल अधिकारी एवं अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. सुशील कुमार ने कहा –मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को कम  करने एवं गर्भवती को कुपोषण मुक्त करने के लिए भारत सरकार द्वारा चलायी जा रही पीएमएमवीवाई महिला एवं बाल विकास के लिए संजीवनी है |
 जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. प्रशांत रंजन ने कहा- गर्भवती  के लिए कोविड का टीका सुरक्षित है | इसलिए गर्भवती को आगे आकर अपना कोविड का टीकाकरण अवश्य करना चाहिए |
पीएमएमवीवाई के जिला कार्यक्रम समन्वयक सच्चिदानंद मिश्रा ने कहा- इस सप्ताह के दौरान अधिक से अधिक गर्भवती का पंजीकरण किया जाए |  इस योजना  का आवेदन फॉर्म भरने  के लिए आशा या एएनएम् से मदद  ली जा  सकती है या घर बैठे www.pmmvy.case.nic.in पर लॉग इन कर स्वयं आवेदन किया जा सकता है। लाभार्थी  को कोई दिक्कत आ रही है या उसे सहायता की जरूरत है तो  मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय के पी.एम.एम.वी.वाई  सेल ( कक्ष संख्या  28) या  नजदीकी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र स्टेट हेल्पलाइन नम्बर 7998799804  पर  भी संपर्क कर सकते हैं।
 इस मौके पर जिला महिला चिकित्सालय के चिकित्सा अधीक्षक डा. रवीन्द्र सिंह, जिला पुरुष चिकित्सालय के  चिकित्सा अधीक्षक डा. जे.एन.तिवारी, जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुजीत कुमार और बड़ी संख्या में गर्भवती महिलाएं उपस्थित रहीं।

About graminujala_e5wy8i

Check Also

बिलग्राम, उर्स ए जहूरी का तीसरे दिन हुआ समापन

महफ़िल ए सिमा में आये कव्वालों ने समा बांधा जिक्र ए औलिया में मौलाना शम्श …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *