कोरोना वैक्सीन ने विश्व में बजाया भारत की आत्मनिर्भरता का डंका

हरदोई।जिलाप्रभारी प्रकाश पाल ने आत्मनिर्भर भारत संगोष्ठी पर कहा कि भारत की आत्मनिर्भरता का आकलन इससे किया जा सकता है कि कोरोना महामारी में वैक्सीन बनाने वाले चंद देशों में भारत भी शामिल है और साथ ही अपने मित्र देशों को भी वेक्सीन उपलब्ध करा रहा है।
जिला भाजपा कार्यालय पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस पर आत्मनिर्भर भारत संगोष्ठी का आयोजन हुआ। मुख्य अतिथि जिला प्रभारी प्रकाश पाल ने कहा कि भारत देश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दूरदर्शिता में स्वास्थ्य क्षेत्र में अभूतपूर्व आत्मनिर्भरता हासिल की। कोरोना जैसी महामारी में जहां विश्व में लाशों के अंबार लगे थे, वही भारत में केंद्र सरकार ने महामारी से निपटने को सरकारी और निजी प्रयोगशालाओं को वैक्सीन बनाने को सारे संसाधन मुहैया करवाए। प्रधानमंत्री के दूरदर्शी फैसले के कारण ही भारत कोरोना वैक्सीन बनाने वाले उन चंद देशो में शुमार हुआ।
इससे पहले कितनी महामारिया भारत के नागरिकों ने झेली पर कभी समय पर उनका इलाज नही मिल पाया कारण था वैक्सीन या दवाइया विदेशों से आयात होती थी, जिसका परिणाम होता था वर्षो तक लोगो को उस महामारी का प्रकोप झेलना पड़ता था।
प्रधानमंत्री द्वारा स्वास्थ्य के क्षेत्र में आयुष्मान भारत योजना भी विश्व की सबसे बड़ी योजना है, देश के साथ ही गरीबों को आत्मनिर्भर बनाया ताकि बीमारी में पैसे की तंगी या मदद के लिए किसी के आगे हाथ न फैलाने पड़े। किसानों के सुरक्षित भविष्य और आय दो गुनी हो, इसके लिए प्रधानमंत्री ने किसानों के लिए कृषि उपकरण योजना शुरू की, इसकी वजह थी किसान पारंपरिक विधि से खेती करता रहा है जिस वजह से श्रम और उत्पादकता में बढ़ोत्तरी नही हो पा रही थी। इस योजना में काम मूल्य पर उपलब्ध यंत्रों का लाभ उठाकर किसान कम श्रम पर अधिक फसल का उत्पादन कर सकते है।
किसानों की बात करते हुए कहा कि पिछली सरकारें गरीबी हटाओ का नारा देकर राजनीति करती आई है पर प्रधानमंत्री मोदी ने जमीनी स्तर पर योजनाओं किसान गरीब केंद्रित योजनाओं को चलाकर उनके जीवन स्तर को उठाने और आत्मनिर्भर बनाने का काम किया है लेकिन विपक्ष को किसानों और गरीबों का भला होते देखना सुहा नही रहा है। कई महीनो से सरकार और कृषि कानून के विरोध में चल रहा किसान आंदोलन विपक्षी हथकंडा है। विपक्ष नही चाहता की किसानों के हित में पास होने वाला कृषि कानून लागू हो। अगर इस कृषि कानून का फायदा किसानों को मिलने लगा तो विपक्ष की राजनैतिक दुकानें हमेशा के लिए बंद हो जाएंगी।
कार्यक्रम में जिला अध्यक्ष सौरभ मिश्र नीरज ने कहा कि भारत की आत्मनिर्भरता का परिणाम यह है कि आज किसान को ट्यूबवेल कनेक्शन बिना किसी लाइन के आसानी से उपलब्ध हो रहा है।यंत्रों से खेती कर रहा है और अपनी उत्पादकता को सरकार की घोषित एमएसपी पर बेचकर अपना सुखद जीवन यापन कर रहा है। कोरोना काल में गरीब परिवारों को मुफ्त राशन उपलब्ध करवाना भारत के खाद्य क्षेत्र में आत्मनिर्भरता का प्रतीक है वरना इससे पहले की सरकारे लोगो के राशन में कटौती कर लेती थी।
आज के आधुनिक युग में ऊर्जा सबसे महत्वपूर्ण आवश्यकता है उत्तर प्रदेश में पहले बिजली आती नहीं थी अब बिजली जाती नहीं।संगोष्ठी में प्रमुख रूप से जिला जिला उपाध्यक्ष राजेश अग्निहोत्री, एस पी मौर्या, संदीप सिंह संजय सिंह प्रीतेश दीक्षित विनोद राठौर, जिला महामंत्री अजीत सिंह बब्बन, अनुराग मिश्र ,इंजीनियर ओम वर्मा ,सत्येंद्र राजपूत, जिला मंत्री अविनाश पांडे,मीना वर्मा, अजय शुक्ला ,जय देवी राजपूत, नीतू चंद्रा, मंगतराम, संदीप अवस्थी, कोषाध्यक्ष डॉ अनुज गुप्ता, जिला मीडिया प्रभारी गांगेश पाठक, कार्यालय मंत्री अतुल सिंह, उमेश अग्रवाल सभी मोर्चा अध्यक्ष प्रकोष्ठ एवं विभागों के संयोजक तथा सह संयोजक मौजूद रहे।

About graminujala_e5wy8i

Check Also

13 से 29 अप्रैल के मध्य किया जायेगा निःशुल्क खाद्यान्न वितरण

हरदोई: जिलापूर्ति अधिकारी कमल नयन सिहं ने बताया है कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजनान्तर्गत माह …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *