मुख्यमंत्री के आदेश के बाद भी कोई कार्यवाही ना होने से क्षुब्ध होकर 3 साधु संतों ने कलेक्ट्रेट परिसर में भूख हड़ताल शुरू की

हरदोई।यू पी के मुखिया मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भले ही उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को चुस्त-दरुस्त होने का दावा करें लेकिन उनके कानून के राज में साधु-संतों को ही न्याय पाने के लिए भूख हड़ताल पर बैठना रहा है. योगी आदित्यनाथ की सरकार में साधु संतों का उत्पीड़न करने वाले लोगों पर कोई कार्यवाही ना होने से क्षुब्ध होकर हरदोई में 3 साधु कलेक्ट्रेट में पिछले 24 घंटे से अधिक समय पर से भूख हड़ताल पर बैठे हैं।  पूरे मामले में जब मीडिया की नजर कलेक्ट्रेट परिसर में भूख हड़ताल पर बैठे इन साधु-संतों पर पड़ी उसके बाद मीडिया के सवालों के बाद प्रशासन पूरे मामले में सक्रिय हुआ है और साधु-संतों को न्याय दिलाने का दावा कर रहा है।  हालांकि प्रशासन के दावे के बाद भी बिना किसी कड़ी कार्रवाई के यह तीनों साधु-संत कलेक्ट्रेट में भूख हड़ताल तोड़ने को तैयार नहीं है। हरदोई के कलेक्ट्रेट परिसर में धरना दे रहे साधु टडियावा थाने के जयराजपुर गांव के रहने वाले बाबा राम सागर दास और उनके कुछ संत साथी है।  बाबा राम सागर दास का आरोप है कि 15 जून को गोमती के किनारे बने उनके आश्रम को कुछ उपद्रवियों ने आग लगाकर फूंक दिया था और उनकी पिटाई भी की थी।  साधु राम सागर दास का आरोप है कि अराजक तत्व ने आश्रम से आने जाने का रास्ता बना लिया था जिसको लेकर उन्होंने दूसरी तरफ से निकलने को कहा था जिसके बाद आरोपियों ने उनके आश्रम की झोपड़ी में आग लगाकर उसे जला दिया था और उनकी पिटाई भी की थी।  इस घटना के बाद बाबा राम सागर दास ने टडियावा थाना पुलिस को पूरे मामले की सूचना दी लेकिन कोई कार्यवाही ना होने पर उन्होंने जिले के डीएम और एसपी को भी शिकायत करके कार्रवाई करने की मांग की थी।  उसके बाद भी कोई कार्यवाही ना होने पर कुछ रोज पहले बाबा राम सागर दास ने जनता दर्शन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी मिलकर शिकायत दर्ज कराई थी।  जिसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनके मामले में कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद भी जब साधु संतों का उत्पीड़न करने वाले लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई तो इन साधु-संतों ने कलेक्ट्रेट परिसर में सोमवार से भूख हड़ताल शुरू कर दी प्रशासन ने इनकी सुध तब ली जब मीडिया ने कलेक्ट्रेट परिसर में भूख हड़ताल पर बैठे इन साधु संतों के बारे में प्रशासन से सवाल किया।  जिसके बाद आनन-फानन में प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे और भूख हड़ताल कर रहे साधु-संतों से बात की।  प्रशासन इन साधु संतों की शिकायत का तत्काल निराकरण करने का दावा कर रहा है वही भूख हड़ताल पर बैठे साधु संत बिना किसी ठोस कार्यवाही के भूख हड़ताल खत्म करने को तैयार नहीं है

About graminujala_e5wy8i

Check Also

नियम विरुद्ध आदेशों से शिक्षक नाराज़ सौंपा ज्ञापन

मनमाने आदेश का भय दिखाकर शिक्षकों को किया जा रहा प्रताड़ित *कमरुल खान* बिलग्राम हरदोई …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *