तेंदुएं ने भैस के बच्चे का कान काटा ग्रामीणों में दहशत

मल्लावां/हरदोई।दिन प्रतिदिन अलग-अलग क्षेत्रों में तेंदुए की देखे जाने व हमला करने की सूचना से लोग भयभीत दिख रहे हैं । ऐसा ही एक मामला मल्लावां क्षेत्र के बांसा गांव के निकट देखे जाने की सूचना लोगों में भय व्याप्त कर रही है।
कोतवाली क्षेत्र के मटियामऊ में अफजल के घर के बाहर बंधे भैस के पड़वे पर तेंदुए ने हमला कर दिया जिसके बाद ग्रामीणों ने शोर मचा कर उसे भगाया आस पास खेतों में उस के पद चिन्हों के निशान देखे गये। वहीं गुरुवार की रात हल्की-हल्की बारिश में खंधेरिया निवासी पप्पू गौसगंज से अपने गांव आ रहे थे,तभी अचानक भट्ठा मोड़ पर पप्पू की नजर तेंदुए पर पड़ी।पप्पू की नजर पड़ते ही पप्पू एकदम हक्का-बक्का हो गए।पप्पू के मुताबिक, सबसे पहले बांसा गांव के प्रधान संपूर्णानंद पूनम को फोन पर तेंदुआ की सूचना दी । जिसके बाद तेंदुए की खबर क्षेत्र में काफी तेजी से फैल गई।तेंदुए की खबर के बाद बांसा समेत करीब आधा दर्जन गांव दहशत के साए में आ गए हैं।ग्रामीणों का कहना है, तेंदुए के खौफ से घर के लोग और बच्चे पूरी तरीके से भयभीत हैं।साथ ही ग्रामीणों ने कहा कि अगर जल्द से जल्द कुछ समाधान नहीं किया जाता है तो दिन पर दिन लोगों में खौफ बढ़ता जाएगा। शुक्रवार को सुबह वन विभाग के बीट प्रभारी शिवमिलन शुक्ला व अवनीश कुमार ने मौके पर जाकर निरीक्षण किया जिसमें मौके पर तेंदुए के चिन्ह होने से इनकार किया। इस मामले में प्रधान संपूर्णानंद पूनम ने बताया है कि वास्तविक रूप से तेंदुआ क्षेत्र में है और तेंदुए के ही पद चिन्ह है लेकिन वन विभाग की टीम मानने से इंकार कर रही है।
ओम प्रकाश रेंजर वन विभाग ने बताया कि तेंदुए के पंजे लगभग 9 से 10 सेंटीमीटर तक चौड़े होते हैं।बांसा गांव में सूचना मिली थी लेकिन वहां पर निरीक्षण के दौरान कुत्तों और सियार के पंजे मिले हैं ।

About graminujala_e5wy8i

Check Also

22 वर्षीय युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

कछौना, हरदोई। कोतवाली क्षेत्र कछौना के अंतर्गत ग्राम जैतनगर में वुधवार को अपराह्न एक युवक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *